ब्लाक तेजवापुर में आयोजित हुआ किसान मेला, गोष्ठी एवं प्रदर्शनी चित्र

old Screen Reader Access | Skip to main content | हिंदी | Decrease Normal  Increase Textile Dashboard image for site search HANDICRAFT HELPLINE  18002084800 (TOLL FREE) image of Home Page emblemofindia Home About Us  Schemes ...

तथा फोटो कैपशन बहराइच 21 जनवरी। प्रदेश में कृषि व कृषि आधारित अन्य गतिविधियों पशुपालन, बागवानी, गन्ना इत्यादि तथा कृषि आधारित उद्योगों को विकसित कर प्रदेश में किसानों की वर्तमान आय को दोगुना करने के उद्देश्य से संचालित ‘‘किसान कल्याण मिशन’’ के अवसर पर विकास खण्ड तेजवापुर में वृहद किसान मेला, गोष्ठी एवं प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। इस अवसर पर आयोजित कृषि प्रदर्शनी में ऊर्जा, कृषि, एन.आर.एल.एम., पशुपालन, विकास, रेशम, खाद्य एवं रसद, मण्डी, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, महिला एवं बाल विकास सहित अन्य विभागों व गैर संरकारी संस्थाओं द्वारा लगाये गये स्टालों का मुख्य अतिथियों ने अन्य अधिकारियों व संभ्रान्तजन के साथ अवलोकन भी किया। मुख्य अतिथि विधायक महसी सुरेश्वर सिंह के प्रतिनिधि अखण्ड प्रताप सिंह उर्फ गोलू, विशिष्ट अतिथि जिला उपाध्यक्ष भाजपा रणविजय सिंह व मण्डल अध्यक्ष शशिकान्त त्रिपाठी द्वारा कार्यक्रम में मौजूद कृषकों को रेशम, उद्यान, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, कृषि विभाग द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को स्वीकृत-पत्र व प्रमाण-पत्र तथा किसान क्रेडिट कार्ड का वितरण किया गया।किसान मेला, गोष्ठी एवं प्रदर्शनी उप निदेशक कृषि डाॅ. आर.के. सिंह, कृषि वैज्ञानिक रोहित पाण्डेय, विधायक महसी के प्रतिनिधि अखण्ड प्रताप सिंह उर्फ गोलू, जिला उपाध्यक्ष भाजपा रणविजय सिंह, प्रगतिशील कृषक पं. हनुमान प्रसाद शर्मा, अनुरूद्ध यादव सहित अन्य प्रगतिशील कृषकों, अधिकारियों व बैंक प्रतिनिधियों ने कृषि एवं एलायड विभाग द्वारा संचालित योजनाओं एवं कार्यक्रमों पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए किसानों का आहवान किया गया कि आमदनी में बढ़ोत्तरी के लिए कृषि व कृषि आधारित अन्य गतिविधियों पशुपालन, बागवानी, गन्ना इत्यादि तथा कृषि आधारित उद्योगों को अपनायें। इस अवसर पर खण्ड विकास अधिकारी चन्द्रभूषण यादव, भूमि संरक्षण अधिकारी अरविन्द कुमार विश्वकर्मा, उप संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी जय कुमार सरोज, एस.एम.एस. शम्भू नाथ सिंह व अन्य सम्बन्धित लोग तथा बड़ी संख्या में कृषक मौजूद रहे।  

Like us share us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *