RCB टीम का SWOT एनालिसिस:मैक्सवेल और अजहरुद्दीन के आने से बेहतर हुआ मिडिल ऑर्डर, डेथ ओवर की गेंदबाजी अब भी कमजोर

रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुुरु (RCB) की टीम अब तक हुए IPL के 13 एडिशंस में से एक बार भी चैम्पियन नहीं बन पाई है। उपविजेता रहना RCB के लिए बेस्ट रिजल्ट रहा है। टीम 2009, 2011 और 2016 में उपविजेता रही है। RCB को दो बार आखिरी स्थान पर भी रहना पड़ा है। इसके बावजूद स्टार पावर के दम पर यह लीग की सबसे लोकप्रिय टीमों में से एक है। कप्तान विराट कोहली ने कहा कि इस बार उनकी टीम बदले हुए अप्रोच के साथ उतरेगी। इसके लिए टीम ने ऑक्शन में ग्लेन मैक्सवेल और मोहम्मद अजहरुद्दीन जैसे खिलाड़ियों को खरीदा है। चलिए इसी बात पर 2021 सीजन के लिए RCB की टीम का SWOT एनालिसिस करते हैं। यानी टीम की मजबूती (Strength), कमजोरी (Weakness), अवसर (Opportunity) और खतरे (Threat) का विश्लेषण।

स्ट्रेंथ-1 बल्लेबाजी

टॉप ऑर्डर में फायर पावर के लिहाज से RCB की टीम लीग की सबसे दमदार टीमों में से एक है। कप्तान विराट कोहली और देवदत्त पडिक्कल ओपनिंग करेंगे। इसके बाद एबी डिविलियर्स, ग्लेन मैक्सवेल और मोहम्मद अजरुद्दीन की मौजूदगी से मिडिल ऑर्डर भी काफी ताकतवर हो जाता है। विराट लीग के इतिहास के सबसे सफल बल्लेबाज हैं। उन्होंने 192 मैचों में 5878 रन बनाए हैं। डिविलयर्स 169 मैचों में 4849 रन बनाकर छठे स्थान पर हैं। पिछले सीजन में देवदत्त पडिक्कल ने 473 रन बनाकर टीम के सबसे सफल बल्लेबाज रहे थे।

मोहम्मद अजहरुद्दीन पहली बार IPL खेलेंगे। उन्होंने सैयद मुश्ताक अली घरेलू टी-20 में 194 के स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी की थी। टी-20 में 152 की स्ट्राइक रेट से बैटिंग करने वाले मैक्सवेल दुनिया के सबसे विध्वंसक बल्लेबाजों में से एक माने जाते हैं। इनके अलावा डैनियल क्रिस्टियन और वॉशिंगटन सुंदर की मौजूदगी से टीम का मिडिल ऑर्डर भी काफी दमदार हो जाता है।

स्ट्रेंथ-2 स्पिन गेंदबाजी
RCB को इस बार 14 में से 7 मैच चेन्नई और अहमदाबाद में खेलने हैं। दोनों ही सेंटर पर स्पिन गेंदबाजों को काफी मदद मिलती है। टीम के पास इन परिस्थितियों का फायदा उठाने के लिए कई अच्छे स्पिनर्स मौजूद हैं। इनमें युजवेंद्र चहल, वाशिंगटन सुंदर, एडम जंपा, शाहबाज अहमद जैसे स्पिनर्स शामिल हैं। साथ ही ग्लेन मैक्सवेल भी पार्ट टाइम स्पिन करने में सक्षम हैं।

कमजोरीः डेथ ओवर की गेंदबाजी
RCB ने पिछली नीलामी में न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाज काइल जेमिसन को 15 करोड़ रुपए में खरीदा। इसके बावजूद टीम के पास डेथ ओवर्स (17वें 20वें ओवर तक) के लिए बहुत अच्छे गेंदबाज नहीं हैं। मोहम्मद सिराज ने टेस्ट क्रिकेट में अच्छा परफॉर्म किया है, लेकिन IPL में उनकी इकोनॉमी काफी ज्यादा रही है।

अवसरः प्ले-ऑफ में पहुंचने का माद्दा
RCB की टीम पिछले सीजन में भी अंतिम चार में पहुंची थी। इस बार टीम ने मिडिल ऑर्डर की कमजोरी को दूर कर लिया है। इस वजह से विराट को ओपनिंग करने का मौका मिलेगा। इन सभी फैक्ट को मिलाकर देखें तो RCB के पास प्ले ऑफ में पहुंचने का दमखम है।

खतरा

ग्लेन मैक्सवेल के आने से मिडिल ऑर्डर को मजबूती मिली है, लेकिन मैक्सवेल लंबे समय से IPL में अच्छा परफॉर्म नहीं कर पाए हैं। पिछले सीजन में वे 13 मैच में 106 रन ही बना पाए। वहीं, 2018 में उन्होंने 12 मैच में 120 रन ही बनाए। 2019 में वे नहीं खेले थे। इस तरह मैक्सवेल को टीम में शामिल करना बैकफायर कर सकता है। इसी तरह मोहम्मद अजहरुद्दीन पहली बार लीग में खेलेंगे। देखना है कि वे उम्मीद का बोझ उठा पाते हैं या नहीं।

Like us share us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *